Sunday, January 24, 2010

Gumnami...

गर गुमनामी का यूँ इश्तहार न देते हम,
तुमसे रूबरू होने की हर गुंजाईश खो बैठते

4 comments: